Advertisements

गणेश संकट नाशन स्तोत्र | Ganesh Sankat Nashan Stotra Pdf

इस पोस्ट में हम आपको Ganesh Sankat Nashan Stotra Pdf देने जा रहे हैं, आप नीचे की लिंक से Ganesh Sankat Nashan Stotra Pdf पढ़ सकते हैं।

 

 

 

Ganesh Sankat Nashan Stotra Pdf

 

 

 

 

 

 

ॐ श्री गणेशाय नमः
नारद उवाच

प्रणम्य शिरसा देवं गौरींपुत्रं  विनायकम् |
भक्तावासं स्मरे न्नित्यंमायुः कामार्थसिद्धये ||

प्रथमम् वक्रतुण्डम् च एकदन्तम् द्वितीयकम् |
तृतीयम् कृष्ण पिंगक्षम् च गजवक्त्रं चतुर्थकम् ||

लंबोदरम् पंचमं च षष्ठम विकटमेव च |
सप्तमं विघ्नराजेंद्रम् च धूम्रवर्णम् तथाष्टमम ||

नवमं भालचंद्रम् च दशमं तु विनायकम् |
एकादशम् गणपतिम् द्वादशम् तु गजाननम् ||

द्वादशएतानि नामानि त्रिसंध्यम यः पठेन्नरः |
न च विघ्नभ्यम् तस्य सर्वसिद्धि करं प्रभो ||

विध्यार्थी लभते विद्याम धनार्थी लभते धनम् |
पुत्रार्थी लभते पुत्रान मोक्षार्थी लभते गतिम् ||

जपेद गणपति स्तोत्रम् षडभिमासैः फलम् लभते |
संवत्सरेण सिद्धि चं लभते नात्र संशयः ||

अष्टाभ्यो ब्राह्मणेभ्यश्च लिखित्वां यः समर्पयेत |
तस्य विद्या भवेत्सर्वा गणेशस्य प्रसादतः ||

इति श्री नारदपुराणे संकष्टनाशनं स्त्रोत्रम् सम्पूर्णम्

 

 

 

 

Ganesh Sankat Nashan Stotra Pdf Download

 

 

 

Ganesh Sankat Nashan Stotra Pdf

 

 

 

Ganesh Sankat Nashan Stotra Pdf

 

 

 

Note- इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी पीडीएफ बुक, पीडीएफ फ़ाइल से इस वेबसाइट के मालिक का कोई संबंध नहीं है और ना ही इसे हमारे सर्वर पर अपलोड किया गया है।

 

 

 

यह मात्र पाठको की सहायता के लिये इंटरनेट पर मौजूद ओपन सोर्स से लिया गया है। अगर किसी को इस वेबसाइट पर दिये गए किसी भी Pdf Books से कोई भी परेशानी हो तो हमें newsbyabhi247@gmail.com पर संपर्क कर सकते हैं, हम तुरंत ही उस पोस्ट को अपनी वेबसाइट से हटा देंगे।

 

 

 

 

मित्रों यह पोस्ट Ganesh Sankat Nashan Stotra Pdf आपको जरूर पसंद आयी होगी, तो इसे शेयर भी जरूर करें।

 

 

 

Leave a Comment

Advertisements